२ करोड़ से अधिक का गबन किया आरटीओ एजंट जोशी ने


प्रतिनिधी / दि.१४ अमरावती – राजापेठ पुलिस ने रोनाल्ड कंपनी के आरटीओ एजंट आकाश जोशी को धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तारकिया. अभी १५ तारीख तक की पुलिस कस्टडी में आरोपी है. आरोपी ने असंख्य वाहन धारकों को बोगस नंबर बांटकर २ करोड़ से अधिक का गबन किया है. आरोपी आरटीओ एजंट आकाश जोशी ने विधायक व मंत्री से लेकर अनेकों को बोगस वाहन नंबर बाटे है. अब पुलिस उससे सारी सच्चाई उगलवा रही है. आज इसी मामले में बडनेरा के इंडिका शोरूम संचालक भी बडनेरा पुलिस स्टेशन पहुंचे व इस इंडिका शोरूम से बिके वाहनों को भी बोगस नंबर प्लेट आरटीओ एजंट जोशी ने जारी करने की जानकारी दी. पुलिस ने इस मामले में आरटीओ के माध्यम से संबंधित शिकायत पुलिस को देने की सलाह संबंधित शोरूम संचालकों को दी है.

सातुर्णा निवासी आरोपी आकाश जोशी यह कंपनी व आरटीओ के एजंट के रूप में काम करता है. शोरूम से जो फोरव्हीलर गाडिय़ां बुक होती है, उसमें डिमांड ड्राफ्ट से लेकर इन्शुरन्स निकालने का काम वह करता है. साथ ही वीआयपी वाहन नंबर उपलब्ध करवाने का काम भी आकाश जोशी करता है. उसने शोरूम से खरीदे गये वाहनों के नंबर प्लेट व इन्शुरन्स के पैसे तो लिये, लेकिन संबंधित वाहन धारकों को बोगस नंबर व इन्शुरन्स जारी कर सारे पैसे खुद हड़प लिये. इस बोगसगिरी का शिकार होनेवालों की संख्या अधिक रहने व जांच में इस मामले में संगीन खुलासे होने का दावा पुलिस का है. आरटीओ को भी इस मामले में संज्ञान लेकर कार्रवाई करनी बंधनकारक है. य्योंकि आरटीओ के नाम पर बोगस वाहन नंबर एजंट अशोक जोशी ने जारी किये है. अब संबंधितों को दूबारा अपने वाहनों के लिए आरटीओ से नंबर प्राप्त करने पड़ेंगे. शोरूम से वाहन खरीदने वालो से पैसे लेकर उसने अपने मन से ही वाहनों के नंबर जारी कर दिये. वीआयपी नंबर के लिए अधिक शुल्क वसूलकर उसने अपने ही मर्जिनुसार वीआयपी नंबर वाहन धारकों को बाटे. आरटीओ व वाहन खरीदीदार दोनों को अंधेरे में रखकर उसने इस गबन कांड को अंजाम दिया. इस जालसाजी में उसे आरटीओ कार्यालय में कार्यरत अधिकारियों का सपोर्ट रहने का अंदेशा भी जताया जा रहा है.पुलिस उस दिशा में भी कार्रवाई कर रही है.

इस जालसाजी में उसके साथ और कोनकोन है, अब तक उसने कितने ग्राहकों को ठगा है इसकी जानकारी निकालने में पुलिस की टीमे जुटी है. राजापेठ पुलिस थाने में दर्ज मामले में आरोपी आरटीओ एजंट आकाश जोशी को १५ मार्च तक की पुलिस कस्टडी सुनायी गयी. अभी और नयी शिकायत बडनेरा पुलिस थाने में पहुंची है. बडनेरा पुलिस ने संबंधित शिकायतकर्ता को आरटीओ के माध्यम से शिकायत दर्ज कराने का सुझाव देने से अब आरटीओ कार्यालय द्वारा य्या अॅय्शन लिया जाता है, यह देखना है. आरटीओ कार्यालय द्वारा इस मामले में पुलिस को शिकायत मिलते ही इस मामले को नया मोड मिलेगा. आरटीओ के शिकायत पर पुलिस भी तेजी से इस मामले की जांच चला सकती है. अभी आरोपी से कड़ी पूछताछ जारी है. आगे के जांच में संगीन खुलासे होने का दावा पुलिस का है. राजापेठ थाने में आरोपी पर ११ लाख रूपये के धोखाधड़ी का प्राथमिक मामला दर्ज है, लेकिन यह धोखाधड़ी २ करोड़ रूपये से अधिक की रहने व आरोपी द्वारा अनेकों मान्यवरों को ठगे जाने की जानकारी सामने आ रही होने से अब पुलिस को भी पूरे मुस्तैदी से इस गबन कांड की जांच करनी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *