समर्थन देने के मसले पर अब भी पेशोपेश में बच्चु कडू

प्रतिनिधि/दि.१२ अमरावती-अमरावती संसदीय क्षेत्र अंतर्गत आनेवाले अचलपुर विधानसभा क्षेत्र के निर्दलीय व दबंग विधायक बच्चु कडू अब तक आसन्न लोकसभा चुनाव में किसी एक प्रत्याशी को अपनी प्रहार जनशक्ति पार्टी द्वारा समर्थन दिये जाने को लेकर अंतिम निर्णय नहीं ले पाये है. यवतमाल-वाशिम संसदीय क्षेत्र में लोकसभा चुनाव के पहले चरण के तहत हुए मतदान के बाद अमरावती लौटे विधायक बच्चु कडू ने यहां लौटते ही अमरावती संसदीय क्षेत्र में किसी एक प्रत्याशी को समर्थन देने का निर्णय लेने हेतु गठित अपने पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की ५१ सदस्यीय समिती से चर्चा की.

इस संदर्भ में दैनिक अमरावती मंडल से विशेष तौर पर बातचीत करते हुए विधायक बच्चु कडू ने बताया कि, लोकसभा चुनाव में किसी एक प्रत्याशी को समर्थन देने के मामले का अध्ययन करने और हर एक कार्यकर्ता का मन टटोलने हेतु बनायी गयी समिती द्वारा बनायी गयी रिपोर्ट से पता चलता है कि, हमारे अधिकांश कार्यकर्ता व पदाधिकारी नवनीत राणा को समर्थन दिये जाने के खिलाफ है. वहीं प्रहार जनशक्ति पार्टी अचलपुर विधानसभा क्षेत्र सहित समूचे जिले व राज्य में भाजपा-सेना युति की नीतियों के खिलाफ रहा है. किंतु मौजूदा राजनीतिक हालात और देशांतर्गत स्थिति को देखते हुए विधायक राणा की बजाय युति प्रत्याशी सांसद आनंदराव अडसूल को समर्थन देने के मसले पर प्रहार के कार्यकर्ताओं की एक राय बन सकती है.

व्यक्तिगत स्तर पर भी राणा को समर्थन के पक्ष में नहीें-

कार्यकर्ताओं से इतर किसी एक प्रत्याशी को समर्थन देने के मसले पर आपकी अपनी व्यक्तिगत राय य्या है, यह पूछे जाने पर विधायक बच्चु कडू ने कहा कि, वे खुद भी लोकसभा चुनाव में किसी भी हालत में नवनीत राणा की दावेदारी का समर्थन करने के पक्ष में नहीं है. य्योंकि उनका मानना है कि, लोकसभा का चुनाव अपने आप में बहुत बड़ा दायर रखता है और फिलहाल अमरावती संसदीय क्षेत्र में सांसद व युति प्रत्याशी आनंदराव अडसूल को छोडक़र ऐसा कोई दूसरा प्रत्याशी दिखाई नहीं दे रहा, जिस पर जिले के समग्र विकास की जिम्मेदारी सौंपी जा सके.

इस बातचीत में विधायक बच्चु कडू ने कहा कि, यद्यपि वे और उनकी प्रहार जनशक्ति पार्टी हमेशा से ही भाजपा-शिवसेना युती की नीतियों के खिलाफ रहे है. किंतु उनके निर्वाचन क्षेत्र में सर्वपक्षीय नागरिक व मतदाता रहते है. ऐसे में वे अपने क्षेत्र की जनभावनाओं को ध्यान में रखते हुए किसी एक प्रत्याशी को समर्थन देने के मसले पर एक-दो दिन में अंतिम निर्णय लेंगे. साथ ही विधायक बच्चु कडू ने यह भी स्पष्ट किया कि, यदि पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से चर्चा के बाद भी किसी एक प्रत्याशी को समर्थन देने के मामले में आम सहमति नहीं बन पायी तो वे अपने सभी कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों और समर्थकों को खुला संदेश देंगे कि वे सभी अपनी अंतरात्मा की आवाज पर जिले का विकास कर सकने में सक्षम प्रत्याशी को वोट करें..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *