नावेद हत्याकांड के पांचों आरोपी बाइज्जत बरी

प्रतिनिधि / दि.१२, अमरावती-वलगांव रोड स्थित असोरिया पेट्रोल पंप चौक सेट्रल बैंक के एटीएम के पास जीमखाने को लेकर हुए विवाद में नावेद ईकबाल बॉडी बिल्डर्स पर चायना के चाकू से सफासफ वार कर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में मुख्य आरोपी रहीम खान की अग्रीम जमानत उच्च न्यायालय ने खारीज की थी.मगर जिला व सत्र न्यायालय ने गवाह व सबल सबूत के अभाव में पांचों आरोपियों को राहत देते हुए बाइज्जत बरी कर दिया है रहीम खान, जिशान अहमद, मोसीन अहमद, अलीशान अहमद व अय्युब खान यह हत्या के विगत ८ जुलाई २०१७ को जिमखाने के विवाद को लेकर नावेद ईकबाल बॉडी बिल्डर पर असोरिया पेट्रोल पंप चौक स्थित सेट्रल बैंक के एटीएम के सामने पांच लोगों ने चायना चाकू से सफासफ वार कर बुरी तरह से घायल कर दिया था.

उसके बाद नावेद को घायल अवस्था में जिला अस्पताल ले जाया गया.परंतु वहां इलाज के दौरान नावेद की मौत हो गयी. तब से सभी आरोपी जेल में थे.इस बीच मुख्य आरोपी रईम खान ने मुंबई उच्च न्यायालय की नागपुर खंडपीठ में अग्रीम जमानत के लिए आवेदन किया था. परंतु अदालत ने अग्रीम जमानत का आवेदन खारीज कर लिया और यह केस पर जल्द से जल्द फैसला सुनाने के निर्देश दिये. पिछले ६ माह से नावेद हत्याकांड का मामला बोर्ड पर लगा था. सुनवाई का दौर जारी था.इस हत्याकांड में मृत नावेद का भाई जुनेद, अ.जमील ऐसे ८ गवाहों के अदालत में बयान लिए गये.मगर हत्याकांड के पर्याप्त सबुत और गवाहों के बयान सही नहीं जुडने के कारण जिला व सत्र न्यायालय क्रमांक ७ के न्यायमूर्ति एफ एम ख्वाजा ने संदेहा का लाभ देते हुए पांचों आरोपियों को बाइज्जत बरी कर दिया.सरकारी पक्ष की ओर से सरकारी वकील सुनील देशमुख तथा आरोपियों की ओर से एॅड.वासुदेव नवलानी, एॅड.प्रशांत देशपांडे,एॅड.जिया खान ने पैरवी की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *