प्रख्यात हास्यकवि प्रदीप चौबे नहीं रहे

अमरावती-मूलत: अमरावती जिले अचलपुर तहसील से वास्ता रखनेवाले तथा कालांतर में मध्यप्रदेश के ग्वालियर शहर में जा बसे हास्य कवि प्रदीप चौबे का निधन हो गया है. बीती रात कैन्सर व गालब्लैडर से पीडीत कवि प्रदीप चौबे को सीने में दर्द होने के कारण ग्वालियर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्होंने शुक्रवार १२ अप्रैल को अपनी अंतिम सांस ली. अपनी हास्य रचनाओं से सबको हंसाने और गुदगुदाने वाले ७० वर्षीय कवि प्रदीप चौबे का जन्म २६ अगस्त को १९४९ को अमरावती जिले  के अचलपुर में हुआ था और राजनीतिक व सामाजिक घटनाओं पर जबर्दस्त तंज कसती उनकी रचनाओं के बिना एक समय हर हास्य की महफिल अधूरी हुआ करती थी.

व्यंग्यकार, कवि और गीतकार प्रदीप चौबे अपनी कविताओं में कॉमेडी के साथ-साथ तीखे व्यंग्य के लिए पहचाने जाते थे. उनकी अधिकतर हास्य कविताओं में रूढि़वादी मानसिकता पर गहरी चोट होती थी. कवि प्रदीप चौबे आखिरी बार होली के समय कपिल शर्मा शो के जरिए सार्वजनिक मंच पर दिखे थे. उनके यूं अचानक चले जाने से साहित्य जगत और साहित्यकार स्तब्ध हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *