रावसाहब को लेकर मुस्लिम बहुल क्षेत्र में ‘राडा’

प्रतिनिधि/दि.१५ अमरावती-शहर के मुस्लिम बहुल क्षेत्र ताजनगर में बीती रात पूर्व विधायक रावसाहब शेखावत को पूर्व पार्षद आसिफ तवक्कल व उनके समर्थकों द्वारा जबर्दस्त विरोध कासामना करना पड़ा. हालात यहां तक हो गये कि, इस विरोध को देखते हुए कांग्रेस-राकांपा की ओर से समर्थन प्राप्त निर्दलीय प्रत्याशी नवनीत राणा का प्रचार करने हेतु पठान चौक व ताजनगर क्षेत्र पहुंचे पूर्व विधायक रावसाहब शेखावत को वहां से उलटे पैर वापिस लौटना पडा. वहीं यह पूरा वाकया पता चलने पर रावसाहब शेखावत की आमद का विरोध कर रहे आसीफ तवक्कल गुट के सामने शेखावत का समर्थन करनेवाले एजाज पहलवान का गुट उतर आया और यहां पर ‘हमरी-तुमरी’ होने के साथ ही एजाज पहलवान ने आसीफ तवक्कल पर हाथ भी छोड दिया, ऐसा प्रत्यक्षदर्शियों का कहना रहा. जानकारी के मुताबिक यह पूरी घटना संसदीय चुनाव की प्रत्याशी नवनीत राणा के साथ मौजूद चुनावी पर्यवेक्षक कर्मचारी के वीडीयो कैमेरे की रिकार्डिंग में कैद है.

इस संदर्भ में मिली जानकारी के मुताबिक रविवार की शाम पूर्व विधायक रावसाहब शेखावत युवा स्वाभिमान नेत्री व कांग्रेस-राकांपा आघाडी समर्थित निर्दलीय प्रत्याशी नवनीतकौर राणा के प्रचार हेतु शहर कांग्रेस अल्पसंख्यक सेल के अध्यक्ष एजाज पहलवान के बुलावे पर पठान चौक परिसर पहुंचे थे. जहां पर उन्होंने नवनीत राणा के साथ पठाण चौक परिसर स्थित प्रचार कार्यालय को भेट दी. पश्चात नवनीत राणा व रावसाहब शेखावत एक ही कार में सवार होकर ताज नगर क्षेत्र की ओर रवाना हुए. इस समय उनके वाहन के पीछे समर्थकों का काफिला दुपहिया रैली की शय्ल में चल रहा था. किंतु यह काफिला जैसे ही आसिफ तवक्कल का प्रभाव क्षेत्र कहे जाते ताज नगर परिसर में पहुंचा, तो आसीफ तवक्कल ने अपने क्षेत्र में रावसाहब शेखावत की आमद का जमकर विरोध करते हुए उन्हें यहां से वापिस चले जाने के लिए कहा.

रावसाहब की वादाखिलाफी से नाराज थे तवक्कल-
मौके पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक पूर्व पार्षद आसिफ तवक्कल अपने साथ पूर्व विधायक रावसाहब शेखावत द्वारा की गई वादाखिलाफी से जबर्दस्त नाराज बताये गये. जानकारी के मुताबिक आसिफ तवक्कल ने सैंकडों लोगों के सामने रावसाहब शेखावत से कहा कि, जिस समय महानगर पालिका में कांग्रेस की सत्ता थी, उस समय रावसाहब शेखावत ने उन्हें वादा करने के बावजूद स्थायी समिती सभापति का पद नहीं दिया. साथ ही विगत मनपा चुनाव के बाद रावसाहब शेखावत ने उनकी बजाय किसी अन्य को पैसा लेकर स्वीकृत पार्षद पद पर मनोनित किया. इस समय आसिफ तवक्कल ने यह भी कहते सुने गये कि, उन्होंने रावसाहब शेखावत को पहले ही अपने क्षेत्र में प्रचार हेतु आने से मना किया था, बावजूद इसके रावसाहब उनके क्षेत्र में प्रचार हेतु आये. इसे कदापि बर्दाश्त नहीं किया जायेगा.

दोपहर में ही विधायक राणा ने चेताया था शेखावत को –
जानकारी के मुताबिक आसिफ तवक्कल ने अपनी इस भावना से विधायक रवि राणा को पहले ही अवगत करा दिया था. जिसके चलते विधायक राणा ने दोपहर में ही रावसाहब शेखावत को चेता दिया था कि वे (शेखावत) नवनीत राणा के प्रचार हेतु मुस्लिम बहूल क्षेत्र ताज नगर परिसर में ना जाये. किंतु आसिफ तवक्कल के निवेदन के साथ ही पूर्व विधायक रावसाहब शेखावत ने विधायक राणा की चेतावनी को भी नजरअंदाज किया और वे ताज नगर क्षेत्र पहुंचे. यहां पर उन्हें आसिफ तवक्कल सहित तवक्कल के समर्थकों की ओर से जबर्दस्त विरोध का सामना करना पड़ा. जानकारी के मुताबिक इस समय आसिफ तवक्कल व उनके समर्थकों ने रावसाहब शेखावत के साथ कुछ हद तक धक्कामुक्की भी की, जिससे स्थिति बेहद तनावपूर्ण हो गयी और रावसाहब के साथ मौजूद नवनीत राणा तो घबराकर रोने भी लगी.

रावसाहब के समर्थन में सामने आये एजाज पहलवान –
ताज नगरमें जारी हंगामे का पता चलते ही रावसाहब के कट्टर समर्थक एजाज पहलवान तत्काल मौके पर पहुंचे और उन्होंने वहां से निकलने की तैयारी कर रहे रावसाहब शेखावत का हाथ पकडक़र उन्हें रोका और उनसे इस परिसर में बने रहने की बात कही. सूत्रों से मिली जानकारी एवं प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक इस समय एजाज पहलवान व पूर्व पार्षद आसीफ तवक्कल आमने-सामने आ गये और दोनों के बीच इस मामले को लेकर हमरी-तुमरी भी हुई और एजाज पहलवान ने आसिफ तवक्कल पर कथित रूप से हाथ छोड़ते हुए उन्हें एक-दो तमाचे भी रसीद कर दिये. जिससे दोनों ओर के समर्थकों में जबर्दस्त तनाव व्याप्त हो गया.

पुलिस के हस्तक्षेप से टला टकराव-
जानकारी के मुताबिक इस मामले में तनाव उपजता देख चुनावी रैली में बंदोबस्त हेतु तैनात पुलिस अधिकारी व कर्मचारी तत्काल हरकत में आये और दोनों पक्षों के समर्थकों को एक-दूसरे से दूर करते हुए टकराव की स्थिति टाली गयी.

देवी सदन पर उमड़ा हुजूम-
रविवार रात करीब ९.३० बजे के आसपास घटित इस घटना की खबर पूरे शहर में आग की तरह फैली और देखते ही देखते इस घटना से संबंधित फोटो और वीडियोज वॉटसअप के स्थानीय ग्रुप्स पर शेअर होने लगे. जिसके चलते रविवार की रात कांग्रेस नगर परिसर स्थित शेखावत परिवार के निवास देवी सदन पर रावसाहब शेखावत के समर्थकों का हुजुम इकठ्ठा होना शुरू हो गया. जिनमें पूर्व महापौर व पार्षद विलास इंगोले, मनपा के नेता प्रतिपक्ष बबलू शेखावत तथा बाबा राठोड सहित कई प्रमुख नेताओं का भी समावेश था.
रावसाहब व आसिफ तवक्कल के मोबाईल बंद-

इस पूरे घटनाक्रम के संदर्भ में जानकारी लेने हेतु संपर्क का प्रयास किये जाने पर पूर्व विधायक रावसाहब शेखावत तथा पूर्व पार्षद आसीफ तवक्कल के मोबाईल स्वीच ऑफ पाये गये. जिसकी वजह से अनेकों बार प्रयास करने के बावजूद इन दोनों से कोई संपर्क नहीं हो पाया.

छोटे-मोटे विवाद चलते रहते हैं-
वहीं दूसरी ओर कांग्रेस अल्पसंख्यक सेल के अध्यक्ष एजाज पहलवान से संपर्क किये जाने पर उन्होंने कहा कि, बीती रात बेहद छोटा-मोटा विवाद हुआ था और चुनाव के दौरान ऐसे छोटे-मोटे विवाद होते रहते हैं. इस समय आसिफ तवक्कल के साथ हुई हाथापायी व मारपीट की घटना के संदर्भ में सवाल पूछे जाने पर एजाज पहलवान ने इस पर कुछ भी कहने से इन्कार कर दिया.

फिलहाल तक पुलिस में शिकायत नहीं-
जानकारी के मुताबिक रविवार की रात घटित इस मामले में सोमवार की दोपहर तक किसी भी पक्ष के द्वारा एक-दूसरे के खिलाफ कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई थी. इस संदर्भ में शहर पुलिस आयुक्त संजय बावीस्कर से संपर्क किये जाने पर उन्होंने बताया कि, शहर में चुनावी माहौल शांत रखने के साथ ही कानून व व्यवस्था की स्थिति बनाये रखने हेतु शहर पुलिस द्वारा हरसंभव कदम उठाये जा रहे है. साथ ही बीती रात की घटना को देखते हुए मुस्लिम बहुल क्षेत्र में अतिरिक्त पुलिस बंदोबस्त लगाया गया है.

पूरे मामले से नवनीत का कोई लेना-देना नहीं

यहां यह विशेष उल्लेखनीय है कि, रविवार की रात हुए इस वाकये का लोकसभा चुनाव हेतु निर्दलीय प्रत्याशी नवनीत कौर राणा के साथ कोई लेना-देना नहीं था तथा इस विवाद का केंद्र बिंदू पूरी तरह से पूर्व विधायक रावसाहब शेखावत ही थे. किंतु जबर्दस्त चीख-पुकार और तनावपूर्ण स्थिति को देखकर नवनीत राणा बुरी तरह घबरा गयी थी और रोने भी लगी थी. यह देखकर मौके पर उपस्थित लोगों ने उन्हेें समझाया कि इस पूरे मामले से उनका कोई लेनादेना नहीं है. अत: वे इस मामले को लेकर कतई न घबराये. जानकारी के मुताबिक करीब १०-१५ मिनट चले इस हंगामे के बाद स्थिति सामान्य हुई और नवनीत राणा अपनी प्रचार रैली के साथ यहां से आगे बढ़ गयी. वहीं घटना के बाद कुछ देर और नवनीत राणा के साथ रहने के बाद पूर्व विधायक रावसाहब शेखावत अपने कांग्रेस नगर स्थित निवासस्थान देवी सदन लौट आये. वहीं एक जानकारी यह भी है कि, हंगामे के तुरंत बाद नवनीत राणा अपनी प्रचार रैली को रद्द कर ताज नगर क्षेत्र से मायूस होकर अपने घर लौट आयी. वहीं थोडी देर बाद रावसाहब शेखावत भी ताजनगर क्षेत्र से निकलकर वापिस लौट आये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *