नायब तहसीलदार टाकसांडे निलंबित


प्रतिनिधि/दि. २१
धामणगांव रेल्वे- नायब
तहसीलदार टाकसांडे की
ओर तहसीलदार का
कार्यभार था. उस समय
टाकसांडे ने संबंधित रेती
तस्करी के मामले के
दस्तावेज पुलिस प्रशासन को
न देते हुए आरोपी रेती
व्यवसायी को दस्तावेज एक
ही दिन में सौंप दिए. इस
मामले को गंभीरता से लेते हुए
विभागीय आयुक्त ने आदेश जारी
करते हुए धामणगांव के निवासी
नायब तहसीलदार को निलंबित कर
दिया है. परमसुख टाकसांडे यह
निलंबित किए गये नायब तहसीलदार
का नाम है. टाकसांडे के
पास २५ फरवरी २०१८ से
तहसीलदार पद का
कार्यभार था. इस बीच एक
रेतीघाट पर तस्करी होने की
जानकारी ८ मार्च २०१८
को मिली. यह जिले की
सबसे बड़ी कार्यवाही थी.
इस कार्यवाही को करने के
लिए तीन दिन का वय्त लगा था.
इस समय पुलिस विभाग ने जानकारी
मांगी. परंतु प्रभारी तहसीलदार के पद
पर कार्यरत टाकसांडे ने पुलिस विभाग
को मांग के अनुसार जानकारी
उपलब्ध नहीं कराई. परंतु इस मामले
में एक रेती व्यसायी को एक ही दिन
में इसकी जानकारी उपलब्ध कराई
गई.
पुलिस विभाग की रिपोर्ट के
अनुसार उपरोक्त जानकारी रेती
व्यवसायी को देने के कारण मुंबई
उच्च न्यायालय की नागपुर खंडपीठ
से उस आरोपी रेती व्यवसायी को
जमानत मिली. टाकसांडे के पास
प्रभारी तहसीलदार का कामकाज होने
के बाद भी उन्होंने अपनी जिम्मेदारी
और शासकीय काम में लापरवाही
दिखाई. जिससे महाराष्ट्र नागरी सेवा नियम १९७९ के नियम ३ के अनुसार
भंग हुआ है. इस वजह से विभागीय
आयुक्त पियूष सिंह आदेश जारी करते
हुए निवासी नायब तहसीलदार
परमसुख टाकसांडे को निलंबित कर
दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *