कल रिहा होंगे विंग कमांडर अभिनंदन


हिं.स./दि.२८ इस्लामाबाद -सीमा पर जारी भारी गोलीबारी और भारतीय सेना के संभावित ऐय्शन से घबराए पाकिस्तान ने भारतीय विंग कमांडर को छोडऩे की घोषणा कर दी है। पाक संसद के साझा सत्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री इमरान खान ने आज कहा कि शांति का संकेत देते हुए हम भारतीय विंग कमांडर अभिनंदर को कल रिहा कर देंगे। आपको पता दें कि एक दिन पहले पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों ने भारतीय क्षेत्र में हमले की कोशिश की थी, जिसे भारतीय जेट ने नाकाम कर दिया था। इस कार्रवाई में पाकिस्तान का एक स्न 16 जेट मार गिराया गया और इसी दौरान भारत का एक मिग 21 भी गिर गया और विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान में अपने कब्जे में ले लिया।

पाक संसद में बोलते हुए इमरान खान ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर को हमने तनाव कम करने के लिए खोलने का फैसला किया। हमें खौफ था कि इलेय्शन से पहले कोई ना कोई घटना जरूर होगी। सऊदी के क्राउन प्रिंस पाकिस्तान में आए थे तो कौन सा मुल्क पुलवामा जैसी दहशतगर्दी करवाएगा? इससे पाकिस्तान को य्या मिलता? भारत ने सबूत नहीं दिया और युद्ध का हालात बना दिया गया। भारत का पुलवामा पर डॉजियर आज पाकिस्तान पहुंचा है। इससे दो दिन पहले ही भारत ने संप्रभुता, अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन किया। हमने सेना प्रमुखों से बात की य्या कोई जवाब दिया जाए। हमें पता था कि उन्होंने बम फेंके थे, कोई हताहत नहीं हुआ तो हमने कोई ऐय्शन नहीं लिया। अगले दिन सिर्फ ये दिखाने के लिए हमारे में ताकत है, अगर आप कर सकते हैं तो हम भी कर सकते हैं। किसी को टारगेट नहीं किया गया।

इमरान खान ने एक बार फिर दावा किया कि पाकिस्तान ने भारत के 2 जेट को गिराया। हमने कल भी पीएम मोदी से बात करने की कोशिश की थी। पीएम खान ने कहा कि हमने भारत को कल पैगाम पहुंचाया। दुनिया के कई देशों से बात कर तनाव को कम करने की कोशिश की गई। 20 साल पहले मैं एक कॉनय्लेव में भारत गया था तो वहां कश्मीर के नेता देश के साथ था। आज कोई भी कश्मीर का लीडर भारत का समर्थन नहीं कर रहा है। कश्मीर का राग अलापते हुए इमरान ने 19 साल के नौजवान आत्मघाती य्यों बन गया, इसका जवाब भारत को ढूंढना चाहिए। भारत को आत्मनिरीक्षण करने की जरूरत है। पाक पीएम ने कहा कि 9/11 से पहले सबसे ज्यादा खुदकुश हमले लिट्टे करता था, जिसमें हिंदू थे। इमरान खान ने भारतीय मीडिया पर भी निशाना साधा। उन्होंने फिर दोहराते हुए कहा कि जंग को लेकर मिसकैलकुलेशन होती आई है। अफगानिस्तान में 17 साल हो गए।

भारत अब कोई ऐय्शन लेता है तो हमें जवाबी कार्रवाई करनी होगी। भारत कहता है कि पाकिस्तान न्यूय्लियर ब्लैकमेल कर रहा है। टेंशन से पाक या भारत किसी को फायदा नहीं होगा। शाम को मैं तुर्की के राष्ट्रपति से बात करूंगा। हालांकि तनाव कम करने को पाकिस्तान की कमजोरी न समझा जाए। बहादुर शाह जफर ने गुलामी या आजादी में से गुलामी को चुना था। हालांकि टीपू सुल्तान ने आजादी को चुना था और इस मुल्क का हीरो टीपू सुल्तान है। कल रात पाकिस्तान को आशंका थी कि कोई मिसाइल हमला हो सकता है। उन्होंने कहा कि भारत इसके आगे न जाए और भारत ने कुछ किया तो पाकिस्तान जवाबी कार्रवाई के लिए मजबूर होगा। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय भी तनाव कम करने के लिए अपनी भूमिका निभाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *